Affiliate Marketing se Paise Kaise Kamaye ?- Hindi Guide

यदि आप Affiliate Marketing से Passive Income प्राप्त करना चाहतें है। तो मेरा Promise है कि, यह आर्टिकल आपकी जिंदगी बदल सकता है। तो  शुरु करें कि Affiliate Marketing se Paise Kaise Kamaye?

Passive Income क्या है ?

Passive Income वह है, जिसे प्राप्त करने के लिए आपको Actively उपस्थित नहीं रहना होता। अर्थात आप किसी स्थान पर Physically हैं ही नहीं , पर Income वहां से आ रही हो।

उदाहरण के लिए – आपने कुछ दिन काम करके  उसे छोड़ दिया है औरआप रात में आराम से सो रहें हो, और  सुबह आप  Mobile Notification देखें, तो पायें की रात में 100 डॉलर आपके Account में Credit हो गए।

खुश होते हुए जब Detail Check करें, तो पाये की रात में कुछ Visitors आपके Blog में Visit किये। उन्होंने Blog पर आपके द्वारा उपलब्ध Links से Products या Services की खरीदारी की , जिसके Commission के रुप में आपको 100 डॉलर Credit हुए।

यह Term नया है, पर सिद्धांत बहुत पुराना है। यूँ कहें की Affiliate Marketing पुराने ज़माने से चले आ रहे, किसी Product या Service को Refer करने का Modern Interpretation है। इसमें आपको Physically उपस्थित नहीं रहना होता।

आप अन्य लोगों का Products या Services, Affiliate Network के Links के जरिए, अपने Blog या Website पर उपलब्ध करतें हैं। जब Visitors, जिन्हें उस Product या Service की वास्तविक आवश्कता है, आपके द्वारा उपलब्ध Links से खरीदारी करतें है , तो आपको Seller की और से Commission प्राप्त होता है।यह Revenue Sharing पर आधारित होता है। आइये, Affiliate Marketing se Paise Kaise Kamaye?  को Detail में जानतें हैं –

Affiliate Marketing Kya Hai ?

Affiliate Marketing se Paise Kaise Kamaye ? Hindi Guide

Affiliate Marketing की परिभाषा Pat Flynn’s Smart Passive Income पर देखी जा सकती है। जिसका हिंदी रूपान्तरण निम्न है –

परिभाषा – Affiliate Marketing –

Affiliate Marketing किसी व्यक्ति या Company के Product या Service को Promote करके Commission प्राप्त करने की एक प्रक्रिया है। इसमें आप अपनी रुचि के Product या Service चुनकर Target Audion’s को Promote करतें हैं और प्रत्येक Sale पर होने वाले लाभांश का निर्धारित हिस्सा प्राप्त करतें हैं।

Merchant आपको Affiliate Commission क्यूँ देते हैं ?

प्रत्येक कम्पनी का प्रमुख उब्बदेश्य अपने Product या Service को Customer तक पहुँचना होता है। साथ ही वे यह भी चाहतीं हैं की, Customer उनके Product से संतुस्ट रहे। जिससे भविष्य में वह Customer या उनका कोई परिचित पुनः खरीदी करे।

कई बार Customer या Consumer जल्दी में, या जानकारी न होने के कारण अपने उपयोग के अनुसार Product का चुनाव नहीं कर पाते, और गलत Product खरीद लेते हैं। ऐसी स्थिति में Customer के मन में उस Company की छवि खराब हो जाती है। भले ही उस Company में Customer के अनुरुप Product रहा हो, जिसे Customer ने जानकारी न होने के कारण नहीं खरीदा था। 

 company  को  main  उदेश्य  यही होता है की हम ज्यादा से ज्यादा Product कैसे बेचे इसीलिए Company Affiliate Marketing शुरू करती है। ऐसी स्थिति निर्मित न हो, इसके लिए कम्पनियाँ अपने Niche से सम्बंधित Blogger को अपना Affiliate बनतीं हैं। जो Customers को Product Reviews के माध्यम से Product की सही जानकारी उपलब्ध करतें हैं। साथ ही Company का Advertisement भी Free में होता है। इससे Company की Sale बढ़ती है। अतः Company Revenue Share के रुप में Commission देतीं हैं।

Affiliate Marketing कैसे कार्य करता है ?

Affiliate Marketing की कार्य प्रणाली, Merchant के System के Background पर Run हो रहे Affiliate Software Program पर आधारित होती है। जैसे –

  1. जब आप  किसी Company के   Affiliate की Site पर Sign Up करतें है। तो एक Unique ID एवं एक निश्चित URL उपलब्ध किया जाता है। जिसे आप Company के Product को Promote करने के लिए प्रयोग कर सकते हैं।
  2. Affiliate URL Link को अपने Blog या Email Marketing के द्वारा Visitors को अधिक जानकारी पढ़ने के लिए Invite कर सकते हैं।
  3. जब कोई Buyer Link को Click करके Affiliate Partner Site पर Visit करता है। तो Cookie के द्वारा Affiliate को पहचान लिया जाता है। साथ ही सुनिश्चित किया जाता है की यदि Buyer के द्वारा निर्धारित Time में Referral Sale होती है तो Publisher Account Credit हो।
  4. जब Buyer Sale के प्रक्रिया पूरी करता है। तब Merchant के द्वारा Referral Source को पहचानने के लिए cookie पर आधारित sales record Check करता है।
  5. यदि Merchant को Cookie में Affiliate ID प्राप्त होती है तो Affiliate का Account निर्धारित Sale के अनुरुप Credit हो जाता है।
  6. Merchant के द्वारा Report बनायी जाती है। जिससे Affiliate आसानी से Affiliate Link पर हुए Click एवं Sales देख सके।
  7. Merchant के द्वारा कुल Affiliate Commission निर्धारित Payment Period में आपको  Pay कर दिया जाता है।


Affiliate Marketing se Paise Kaise Kamaye ? जानिए 4 Step में।

पोस्ट ” Affiliate Marketing se Paise Kaise Kamaye ? को 4 Steps से समझा जा सकता है।

यदि आप एक सफल Affiliate Marketer बनाना चाहतें है तो यह Key Point को समझिये।

“आप Readers को उन Products या Services को खरीदने के लिए अपनी उचित राय देतें हैं , जिसके बदले में आपको Commission प्राप्त होता है। जबकि, वे उन Products या Services को स्वयं खरीदना चाहते थे। “

दूसरे शब्दों में कहें, Readers को जो खरीदना है , वे वह खरदेंगे ही, चाहे आप अपनी advise दें या ना दें।
अब प्रश्न उठता है , की फिर Commission किस बात का मिलता है ?
उत्तर है कि – Commission मिलता है Readers को Smart Decision लेने में मदत करने का।

ये Smart Decision Readers Readers खुद अकेले क्यूँ नहीं ले सकते ?

क्यूंकि, आप उनके Decision लेने में अपनी Valuable Value Add करतें हैं। और ये Value को प्राप्त करने के लिए आप अपने blog में एक निश्चित एवं व्यवस्थित प्रक्रिया (Process ) के द्वारा सारांशित (Summarize ) करतें हैं। आप उन हज़ारों Readers की Help करतें हैं फिर चाहे वे Product Buy करें या न करें।

Affiliate Marketing se Paise Kaise Kamaye? आइये Step by Step जानतें है वह प्रक्रिया (Process ) क्या है –

Step 1 : Promote करने के लिए Affiliate Product का चुनाव करें।

Option #1 : उन Products को Promote करें जिनके बारे में आप जानते एवं पसंद करतें हैं।

यह Affiliate offers के साथ शुरुआत करने का सामान्य तरीका है। इसमें आप उन Products या Services को Affiliate बनातें है, जिनका आपको अच्छा अनुभव है। अपने स्वयं इसे Test किया है। और आपका इसमें पूरा विस्वास होता है, की जैसा अच्छा अपने अनुभव किया था ,ठीक वैसा ही आपके Readers महसूस करेंगे।

ऐसे Products की एक List बनायें। जब आप लिखना शुरु करेंगे तो पाएँगे, की ऐसे दर्जनों या इससे भी ज्यादा Products हैं जिनका आपको अच्छा Experience है और अपने पाठकों को Confidence के साथ Recommend कर सकतें है।

जैसे अपने कोई Product या Service ख़रीदा हो, Online Course किया हो, या फिर कोई अच्छी eBook पढ़ी हो जिससे आपको अच्छी सफलता प्राप्त हुई हो। यदि उन सफलताओं का कोई Record या Statement हो तो उसे भी Share करें।

अपनी List बनाने के बाद , अब आपको यह पता करना होगा की इनमें से ऐसे कितने Products हैं जो Affiliate Program Offer करतें हैं। इसका सबसे सरल तरीका है , Google Search Engine पर जाकर ” Affiliate Program ” + [ Product Name ] टाइप करें और Search करें।

या फिर यदि आपको पता हो की कौन सी Company आपके Product का Affiliate Program Offer करती है तो Product Name की स्थान पर उस कंपनी का नाम Type करके भी Search कर सकतें हैं।

या यदि आप किसी Company का Affiliate बनाना चाहतें हैं, और आपको उस Company का Affliate URL पता नहीं है तो Google Search Engine पर जाकर ” Affiliate Program ” + [Company Name] टाइप करें और Search करें।

उदाहरण के लिए मान लीजिये आपको Amazon का Affiliate Link पता करना हो तो –

एक अच्छे Affiliate Program को चुनते समय Check List में इन प्रश्नों को जाँचे –

  • क्या आपको Affiliate Programs के Products की Quality पर Trust है।
  • क्या उनकी बेहतर एवं विस्वसनीय Refund Policy है।
  • क्या उनके द्वारा उत्तम Customer Support उपलब्ध है।
  • क्या आपके पास Affiliate Program के किसी Product की Best Story है जो Share की जा सके।
  • क्या Affiliate Program के Offers आपके पाठकों की आवश्कता के अनुरूप है।
  • क्या इस Program पर आपके पाठक Trust कर सकतें है।

जिन Products पर सभी Checkbox पर Tick होते है , उनमें Affiliate Income प्राप्त करने की ज्यादा संभवना होती है।आप अपना पहला Product खोज लिया है। अब Affiliate Marketing se Paise Kaise Kamaye? में आपको Merchant Process को पूरा करना होता है।

Best Affiliate Marketing Network in Hindi ?

इंडिया में Affiliate Marketing के लिए कई अलग-अलग Affiliate Marketing Network हैं इनमें से हम कुछ प्रमुख Affiliate Marketing Network की लिस्ट आपके साथ नीचे साझा कर रहे हैं।

  1. Amazon Affiliate Program
  2. Flipkart Affiliate Program
  3. Shopclues Affiliate Program
  4. Godaddy Affiliate Program
  5. eBay Affiliate Program

Step 3 : चुने हुए Affiliate Offers को Promote करें।

आपके द्वारा की गयी मेहनत से पैसा तभी आएगा जब कोई Reader आपके द्वारा दिए गए सलाह को स्वीकार करे एवं खरीदारी करे। इसके लिए सबसे पहले आपको अपनी Recommendations अपने Audience के सामने व्यक्त करना होगा। और इससे भी अधिक वह Recommendation विश्वसनीय होना चाहिए।यही वह जगह है जहाँ अधिकतर Affiliates चूक कर जातें हैं। उन्हें लगता है कि Blog पर कुछ Banner एवं Link लगा दिया, काम पूरा हो गया। अब बस पैसों की बारिश शुरू हो जाएगी।यह Example देखिये –Blog Niche का हमारे Visitors के साथ बहुत गहरा सम्बन्ध होता है। आप स्वयं सोंचे कि यदि मान लीजिये कि आपकी रुचि Automobile या गाड़ियों में है। तो आप इनमें से कौन से Blog पर भरोसा करेंगे और उसे नियमित पढ़ना चाहेंगे।जो कभी एक या दो Post गाड़ियों पर लिखे ?जो सारे Post केवल गाड़ियों पर ही लिखे ?स्पष्ट है के आप Choice 2 ही चुनेंगे। क्यूंकि आप भी जानतें हैं ,जो गाड़ियों पर लिख रहा है उसकी रुचि भी केवल गाड़ियों में ही है। और इस विषय में जितना ज्ञान इस ब्लॉगर को होगा उतना किसी दूसरे Niche के Blogger को नहीं होगा।ऐसी स्थिति में यदि कोई Cooking ब्लॉगर गाड़ी के किसी Model या उसके Part के लिये Affiliate Link उपलब्ध कराये। तो क्या आप उस Link से खरीदारी करेंगे ? निसंदेह नहीं।

1 – Affiliate Product पर Review Post लिखें –

Affiliate Product को Promote करने के लिए Detailed Review Post लिखें। यह सभी प्रकार के Affiliate Programs के लिए किया जा सकता है। जैसे Online Courses, Books, Software Products, Services या Blogging Tools आदि।

आपका Review किसी Single Product या कई Products के बीच तुलना करने से सम्बंधित हो सकता है।

Review Post में एक ही Segment के एक से अधिक Products को Recommend करने से बचना चाहिए। इससे Readers के बीच Confusion उत्पन्न होता है। यदि एक से अधिक Product को Recommend करतें भी है तो उनके मध्य के अंतर को स्पष्ट बताना चाहिए। जैसे उनके मध्य कीमत में अंतर , प्रयोग के लाभ एवं हानियाँ आदि ।

2 – सम्बंधित Content पर Post लिखें।

आप Affiliate Product से सम्बंधित Popular Topic पर Detailed Post लिख कर और उस Post पर Affiliate Link या Banner का प्रयोग सकतें हैं। इसमें उस Popular Post में Affiliate Product की उपयोगिता बतानी होती है। इस विधि को Soft Sell भी कहतें हैं।

उदाहरण : आप WordPress Blog बनाने पर एक Detailed Post लिखें और उसमे अपने Hosting Provider का Affiliate Link प्रयोग करें।

Post Topic चुनते समय यह ध्यान देना चाहिए की उसमे प्रयोग किया गया Content long time के लिए उपयोगी और Popular होना चाहिए। ऐसे Content से Readers को ज्ञान बढ़ता है और Search Engines के द्वारा Visitors को आकर्षित करता है।

ऐसे Post में SEO पर अधिक ध्यान देना होता है। जैसे Searching में Right Keyword , Fast Loading Page , Social Media Linking पर विशेष Focus रखना चाहिए। जिससे अधिक से अधिक Traffic प्राप्त हो सके।

3 – Post पर Bonus / Offer Content लिखें।

अधिकार अच्छे Affiliate Programs आप को अपने Readers को आकर्षित करने या Fast Buying करवाने के लिए Affiliate Agreement के द्वारा विभिन्न प्रकार के Bonus एवं Offers उपलब्ध करते हैं।

हमारे और आपकी तरह सभी को Bonus एवं Offers पसंद होता है। इससे आपके पाठकों को Affiliate Products पर ज्यादा Value प्राप्त होती है। साथ ही उनके Buy करने की संभावना भी बढ़ जाती है।

परन्तु यदि Affiliate Programs की ओर से ऐसी कोई पेशकश नहीं है, तब भी हमें अपने Content को Bonus /Offer friendly बनाना चाहिए। इससे आपका Blog आपके Competitors से अलग दिखता है। और आपका स्वाभाव Readers को अधिक Caring एवं Helping मेहसूस होता है।

अपनी ओर से Affiliate Products पर Value add करने के लिए हम Extra कर सकतें हैं। जैसे –

  • Email पर Free PDF Guide
  • Step by Step Checklist
  • Email ,Chat या Phone पर Free/Discounted Support
  • Audio /Video Product Demo

हमें अपने Affiliate Product की Link या Banner प्रयोग करतें समय अपने Readers को यह व्यक्त करना चाहिए कि हम Affiliate Link प्रयोग कर रहें और यदि आप खरीदी करेंगे तो ,इससे हमें Commission प्राप्त होगा।

पारदर्शिता व्यक्त करने पर डरना नहीं चाहिए। Readers आपके ईमानदारी की सराहना करतें हैं। और यह मानकर खरीदी करतें हैं कि, आप उनकि समस्या से सम्बंधित विषय पर Research करके सही Product उनको Recommend कर रहें हैं।

यह बात हमेंशा ध्यान में रखें कि आज नहीं तो कल आपके Referral यह जान ही जायेंगे कि उनसे आपने Commission प्राप्त किया है। तब आपके छिपाकर Refer करने की विधि से आपकी विस्वसनीयता उनके मन में निश्चित कम होगी।

जबकि यदि आप बताकर Refer करतें हैं तो हो सकता है कि कुछ Readers खरीदारी न करें। परन्तु जो करेंगे वो आपके Loyal Customers होंगे। और वो आगे भी सदा के लिए आपकी आपकी ईमानदारी एवं Content Value को प्राथमिकता देंगे।

अतः हमें यह अपनी आदत में डालना चाहिए की हम जब भी Affiliate Link अथवा Banner Blog Post , Email अथवा Web Pages पर प्रयोग करें। Readers को संछिप्त में व्यक्त करें की यह Affiliate Link है। यह Long Term हमेंशा लाभदायक होता है।

इसी के साथ मेरा यह आर्टिकल ” Affiliate Marketing se Paise Kaise Kamaye ? पूरा होता है। आशा है के आपको पसंद आया होगा।

संछिप्त निष्कर्ष :

उपरोक्त पोस्ट ” Affiliate Marketing se Paise Kaise Kamaye ? Hindi Guide ” में हमने जाना कि Passive Income क्या है ? परिभाषा – Affiliate Marketing क्या है ? Merchant आपको Affiliate Commission क्यूँ देते हैं ? Affiliate Marketing कैसे कार्य करता है ? Affiliate Marketing Process एवं Affiliate Marketing se Paise Kaise Kamaye ? और इसके 4 Steps में विवरण।

पोस्ट ” Affiliate Marketing se Paise Kaise Kamaye ? को बिंदुओं एवं चित्रों के माध्यम से समझाने का प्रयास किया गया है। परन्तु फिर भी कहीं कोई प्रश्ना हो तो Comment Box में अवस्य पूछें। यदि आपको यह Article Affiliate Marketing se Paise Kaise Kamaye? पसंद आया हो तो इसे शेयर जरुर करें। धन्यवाद्।

3 Replies to “Affiliate Marketing se Paise Kaise Kamaye ?- Hindi Guide”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *